Best Hindi sex stories

Sab se achi Indian Hindi sex kahaniya!

लंड देख के वो बोली इतना काला लंड!


Antarvasna, sex stories अभी कुछ समय पहले ही तो मेरी बहन श्यामा की शादी रोहित के साथ हुई थी सब कुछ बहुत ही अच्छे से चल रहा था मेरे पिताजी भी कुछ समय पहले ही अपनी सरकारी नौकरी से रिटायर हुए थे लेकिन जब श्यामा की मौत की खबर हमें मिली तो सब लोग बहुत ज्यादा हैरान रह गए। मेरी मां तो श्यामा की मृत्यु की खबर सुनकर जमीन पर बेहोश होकर गिर पड़ी थी घर में गमगीन माहौल था और सब लोग बहुत ही ज्यादा उदास थे। कई दिनों तक तो मेरी मां ने और पापा ने खाना नहीं खाया था किसी को कुछ समझ नहीं आ रहा था श्यामा अपने पीछे ना जाने कितने सवाल छोड़ कर चली गई थी। उसकी दो वर्षीय बेटी भी अब रोहित की जिम्मेदारी थी किसी को कुछ समझ नहीं आ रहा था कि कैसे श्यामा की मृत्यु को भुलाया जाए।

श्यामा बहुत ही चुलबुली और शैतान थी मैं जब उसके बारे में सोचता तो मुझे बहुत ही बुरा लगता है और बहुत तकलीफ होती लेकिन यह सब किस्मत का ही खेल था हमारे हाथ में कुछ भी नहीं था। सब कुछ इतनी जल्दी हुआ कि किसी को कुछ मौका ही ना मिल सका श्यामा की अचानक से हुई मृत्यु से सब लोग पूरी तरीके से आश्रयचकित है और जो भी यह खबर सुनता वह दुखी हो जाता। हमारे रिश्तेदार हमारे घर पर हमारा दुख बाँटने के लिए भी आए थे लेकिन हम लोग बहुत ज्यादा दुखी हो चुके थे और हमे श्यामा की दो वर्षीय बच्चे की देखभाल भी करनी थी। मेरी छोटी बहन शगुन बच्ची की बहुत देखभाल करती है और एक दिन पिताजी ने मेरी मां से कहा कि शगुन की शादी हम रोहित से करवा देते हैं। मुझे ऐसा लगा कि जैसे शगुन अभी इन सब चीज के लिए तैयार नहीं थी परंतु उसे इस रिश्ते में बंधना पड़ा और कहीं ना कहीं वह इस बात से दुखी तो थी लेकिन वह अपने दुख को बयां ना कर सकी और उसने दुखो का प्याला खुद ही पी लिया। यह सब बहुत ही जल्दी में हुआ एक छोटा सा अरेंजमेंट पिताजी ने करवाया था और शगुन की शादी अब रोहित के साथ हो चुकी थी। शगुन की शादी के बाद रोहित उसे खुश रखने की कोशिश करता लेकिन फिर भी उन दोनों के बीच किसी न किसी बात को लेकर अनबन हो ही जाती थी।

शगुन तो सिर्फ उस छोटी सी बच्ची के लिए रोहित से शादी करने के लिए तैयार हुई थी लेकिन यह बात शायद रोहित को कहा मालूम थी रोहित तो शगुन पर श्यामा की तरह ही हक जताया करता था। जब रोहित के साथ शगुन की शादी हो रही थी तो उसे किसी ने कुछ भी नहीं पूछा था सिर्फ शगुन को शादी के लिए तैयार कर दिया गया और इस बात को 6 महीने होने आए हैं लेकिन श्यामा की याद अब भी हम लोगों के दिल में ताजा हैं। ऐसा लगता है कि जैसे कल की ही बात है कि श्याम हमारे साथ खेला करती थी। मम्मी पापा को यह तो गम जिंदगी भर रहने वाला था इसीलिए वह लोग अब अपनी दुनिया में ही सिमट कर रह गए थे वह किसी से भी ज्यादा बात नहीं किया करते थे। इसी बीच एक दिन शगुन और रोहित के बीच झगड़े हुए और शगुन घर चली आई जब शगुन घर आई तो पिताजी बहुत गुस्सा हो गए और कहने लगे तुम्हें ऐसे ही घर छोड़ कर नहीं आना चाहिए था। शगुन के पास भी शायद कोई जवाब ना था वह कहने लगी पापा मैं अब रोहित के साथ नहीं रह सकती हम दोनों के बीच ना जाने किस बात को लेकर अनबन होती रहती है। शगुन रोहित के साथ नहीं रहना चाहती थी मैं भी इन सब चीजों से बहुत परेशान हो चुका था और मैं अपनी जॉब पर अच्छे से ध्यान भी नहीं दे पा रहा था इसलिए मैंने सोचा कि मैं बेंगलुरु चला जाता हूं। मैंने बेंगलुरु में जॉब करने का फैसला कर लिया था और मैं मुंबई छोड़ कर बेंगलुरु नौकरी करने के लिए चला गया। मेरे पास 7 वर्ष का काम का तजुर्बा था इसलिए मुझे बेंगलुरु में जॉब मिल गई और मैं अब जॉब करने लगा था। मैंने बेंगलुरु में ही अपने एक पुराने दोस्त के साथ फ्लैट ले लिया था और हम दोनों फ्लैट में ही रहते थे। मैं अपने घर से दूर था मुझे अपने घर की याद बहुत सताती थी और कई बार मुझे लगता था कि शायद मुझे मुंबई से बेंगलुरु नहीं आना चाहिए था लेकिन अब धीरे-धीरे सब कुछ ठीक होता जा रहा था।

मैं अपने घर से दूर जरूर था लेकिन अपने माता पिता को हर रोज मैं फोन किया करता वह लोग काफी परेशान थे लेकिन उनके पास भी शायद अब कोई और रास्ता नहीं था। मैं उनसे पूछता कि शगुन और रोहित के रिश्ते कैसे हैं तो मेरी मां कहती कि बेटा अब भी वह दोनों आपस में झगड़ते रहते हैं और बस जैसे तैसे अपने रिश्ते को आगे खींच रहे हैं। मैं काफी अकेला हो चुका था क्योंकि मैं अपने घर से दूर था मैं ज्यादातर अपने ऑफिस में ही रहता था अपने ऑफिस से लौटने के बाद मेरी दुनिया मेरे फ्लैट तक ही सीमित थी। मैं आसपास के लोगों को भी नहीं जानता था परंतु मेरा दोस्त बिल्कुल मेरे विपरीत था वह सब लोगों को जानता था और उसके आसपास काफी दोस्त भी थे। कई बार वह मुझसे कहता कि कमल तुम अपनी दुनिया में ही खोकर रह जाओगे तुम ने अपने आप को सिर्फ एक कमरे में ही कैद कर के रख लिया है तुम्हें मेरे साथ पार्टियों में आना चाहिए और बाहर का भी आनंद लेना चाहिए। मुझे भी लगा कि शायद वह बिल्कुल सही कह रहा है और इसी के चलते मैं अब अपने दोस्त के साथ पार्टियों में जाने लगा जब मैं उसके साथ पार्टी में जाने लगा तो मुझे शराब की लत ने अपनी ओर जकड़ लिया था मैं पूरी तरीके से शराब के नशे में ही रहने लगा था। मैं जब भी अपने ऑफिस से वापस लौटता तो मुझे जैसे अब शराब का ही सहारा था इसी बीच मेरे ऑफिस में मेरी दोस्ती आकांक्षा के साथ हुई। आकांक्षा दिल्ली की रहने वाली थी और आकांक्षा के साथ मेरी काफी अच्छी दोस्ती हो चुकी थी एक दिन उसने मुझसे पूछा कि तुम काफी परेशान रहते हो तुम्हारी परेशानी की वजह क्या है।

मैंने उसे जब अपनी बहन की मृत्यु के बारे में बताया तो वह कहने लगी तुम्हारी बहन की मृत्यु कैसे हुई। मैंने उसे कहा कि पता ही नहीं चल पाया की कैसे उसकी मृत्यु हो गई और जब हमें यह खबर मिली तो हम लोग बहुत परेशान हो चुके थे और सब लोग पूरी तरीके से टूट चुके थे लेकिन फिर भी हम लोगों ने अपने जीवन को दोबारा से पटरी पर लाने की कोशिश की और सब कुछ अब धीरे धीरे सामान्य होने लगा है। आकांक्षा के साथ जब मैं बात करता तो ऐसा लगता कि जैसे कोई तो अपना है जिससे मैं अपने दिल की बातें शेयर कर सकता हूँ इसलिए मैं आकांशा से अपने दिल की बातें शेयर किया करता था। मुझे उससे बात करना अच्छा लगता था आकांक्षा एक बड़ी ही बिंदास लड़की है उससे ऑफिस में सब लोग मजाक किया करते हैं लेकिन वह कभी भी किसी की बात का बुरा नहीं मानती। आकांक्षा मेरे जीवन का सबसे अहम हिस्सा बन चुकी थी और मुझे भी उसके साथ बहुत अच्छा लगता था। आकांक्षा मेरे पास कई बार मेरे आती रहती थी लेकिन मुझे नहीं पता था कि आकांक्षा भी शराब पीती है। एक दिन मैंने उसे शराब के लिए ऑफर किया तो वह भी मान गई हम दोनों ने साथ में बैठकर ड्रिंक की लेकिन आकांक्षा को बहुत नशा हो चुका था इसलिए वह मेरे साथ ही रुकने के लिए तैयार हो गई। जब वह मेरे साथ रूकने के लिए तैयार हुई तो मैंने अपने दोस्त को फोन किया उसने कहा आज मैं घर नहीं आऊंगा मेरे लिए तो यह बड़ा अच्छा मौका था। आकांक्षा को मैने बिस्तर पर लेटा दिया जब मैं उसे ध्यान से देखता तो उसके बड़े स्तन और उसके होंठ मुझे अपनी ओर आकर्षित करते।

मैंने आकांक्षा के स्तनों को दबाना शुरू किया उसके होंठो को मैं काफी अच्छे से महसूस करने लगा उसके होठों को जब मैंने चुंबन किया तो वह भी पूरी तरीके से उत्तेजित हो चुकी थी। उसकी उत्तेजना चरम सीमा पर पहुंच गई वह अब भी नींद में थी लेकिन थोड़ा बहुत उसका शरीर हिल रहा था जिससे कि मैंने उसके कपड़े उतार दिया। वह उठ चुकी थी जैसे ही वह उठी तो उसने मुझे कहा तुम यह क्या कर रहे हो? वह सब कुछ जानते हुए भी अनजान बनने की कोशिश कर रही थी। मैंने भी अपने लंड को बाहर निकाला तो वह मेरे लंड की तरफ अपनी नजर को गडाते हुए कहने लगी तुम्हारा लंड बड़ा काला है। मैंने उसे कहा लेकिन मेरे लंड की मोटाई भी बहुत ज्यादा है तो वह खुश हो गई। वह मेरे लंड को हिलाने लगी आखिरकार उसने मेरे लंड से पानी बाहर निकाल दिया। जब मेरा लंड उसकी योनि के अंदर घुसने के लिए तैयार हो चुका था तो मैंने भी उसकी योनि को बहुत देर तक चाटा जिससे कि उसकी योनि से पानी निकलने लगा उस पानी को मैं अपनी जीभ से चाट चाट कर पी चुका था। वह पूरी तरीके से उत्तेजित हो चुकी थी उसकी उत्तेजना इतनी ज्यादा बढ़ गई कि उसने मेरे लंड को अपने हाथों से पकड़ा और उसे अपनी योनि पर सटा दिया। जैसे ही उसने अपनी योनि पर मेरे लंड को लगाया तो मैंने भी उसकी योनि के अंदर अपने लंड को घुसा दिया।

उसकी योनि के अंदर मेरा लंड पूरा जा चुका था जैसे ही उसकी योनि में मेरा लंड घुसा तो उसके मुंह से चीख निकली। उसकी सिसकियां मुझे अपनी ओर खींचने लगी उसकी सिसकिया मुझे अपनी और खींच रही थी। मैं बहुत ज्यादा खुश हो चुका था मैं उसे इतनी तेज गति से धक्के दिया जा रहा था कि उसके मुंह से आह ऊह की आवाज निकलती जा रही थी जिससे कि मेरा लंड और भी ज्यादा जोश में आने लगा। मैंने उसे घोडी बनाते हुए चोदना शुरू किया कुछ देर तक मैं उसे घोड़ी बनाकर चोदता रहा लेकिन जब उसने अपनी चूतडो को मेरे लंड पर सटाया तो वह अपन चूतडो को ऊपर नीचे कर रही थी। जिससे कि मुझे बड़ा मजा आता और उसकी बड़ी सी चूतडे जब मेरे अंडकोष से टकराती तो मेरे अंडकोष से वीर्य बाहर की तरफ निकलने लगता। जैसे ही मेरे अंडकोषो से वीर्य बाहर की तरफ को निकलने लगा तो मैंने उसे कहा मेरा वीर्य गिरने वाला है। वह कहने लगी तुम मेरे स्तनों पर गिरा दो मैने उसके स्तनों पर अपने वीर्य का छिड़काव कर दिया।

Best Hindi sex stories © 2017
error:

Online porn video at mobile phone


hot sex storiesmom and son sex storiesgandu antarvasnaporn in hindiantarvasna hindi kathaantarvasna boyhindi sexy storyfree hindi sex storiesantervsnadesi cuckoldanyarvasnasexy chat?????new hindi antarvasnamaa ko choda????? ??????antarvasna saxantarvasna antarvasnahot sex storysex hindi antarvasnakamukta. comhot antarvasnahindisex storyanterwasanaantavasanaantarvasna xgay sex storieschudai ki kahani in hindiantarvasna busantatvasnaantarvasna hindi sex videobhabhi sex storiesgroup antarvasnamobile sex chatsex chatantervsnahindi sex stories antarvasnasex kahani in hindidesi blow jobaunty sex storiessavita babhihot marathi storieskahani antarvasnaantarvasna with picindian aunty sexantarvasna naukarantarvasna santarvasana.comaunty gandantarvasna oldchudai ki kahaniyabest pronsexy story in hindiantervasna.comanterwasnaantarvasna chachi bhatijaindian aunty sexreal sex storiesfucking storiesindian erotic storieslatest sex storieschahat moviemausi ki antarvasnapunjabi girl sexdesipapabhai nemami ki chudai antarvasnabhabi sexantarvasna maa kipyasi bhabhiantarvasna website paged 2desi sex sitesfamily sex storiesantarvasna samuhikantarvasna kahani in hindichachi ki chudai antarvasnamast chudai